Login (User Login)

विशेष सूचना :-

Reset User-ID For Application

  • User ID रीसेट केवल दो बार ही फ्री कर सकता है। उसके बाद यह देय होगा।
  • User ID can be reset only twice. After that it will be payable.
Click To Reset User ID

Socialaddworld terms & condition for app

  • do not reset or format your mobile unless it's not important
  • company can reset your device id only two times
  • if you have any query or issue kindly email us on app.socialaddworld@gmail.com with your registered e-mail id

सोशलडवर्ल्ड ऐप के लिए नियम व शर्तें

  • अपने मोबाइल को रीसेट या फॉरमेट न करें जब तक कि जरूरी न हो।
  • कंपनी केवल आपकी डिवाइस आईडी को दो बार ही रीसेट कर सकता है।
  • अगर आपके पास कोई प्रश्न या समस्या है तो कृपया हमें अपने पंजीकृत ई-मेल आईडी से app.socialaddworld@gmail.com पर ई-मेल करें।

वेब लॉगिन बंद कर दिया गया है। अब आप Social Add World App से लॉगिन कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने मोबाइल में Google Play Store पे जा कर Social Add World App Install करना होगा। App से लॉगिन करने के लिए आपको अपनी same ID & password से लॉगिन करना होगा । नीचे दिए गये लिंक से Social Add World App Install कर सकते है।

Web login has been turned off. Now you can login with Social Add World App. For this you have to go to Google Play Store to install the Social Add World App. To login with the app, you must login with your same ID & password. Install the Social Add World App from the given link below.

Social Add World


Social Add World

Our Other App


B2R Social Pics Social Wallet
Official Android application to access our website where user enter their login credentials.
With the help of this application user can login to our website "www.socialaddworld.us.com" and go to forget page if in case user forget their login credentials i.e. username or password.

नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें संदेश |

नवरात्रि के नौ रातों में तीन देवियों - महालक्ष्मी, महासरस्वती या सरस्वती और दुर्गा के नौ स्वरुपों की पूजा होती है जिन्हें नवदुर्गा कहते हैं। दुर्गा का मतलब जीवन के दुख कॊ हटानेवाली होता है।

Send Special Wish on Whatsapp Know More About Navraytri

नवरात्रि एक हिंदू पर्व है। नवरात्रि एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है 'नौ रातें'। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। दसवाँ दिन दशहरा के नाम से प्रसिद्ध है। नवरात्रि वर्ष में चार बार आता है। पौष, चैत्र,आषाढ,अश्विन प्रतिपदा से नवमी तक मनाया जाता है। चैत्र और आश्विन नवरात्र में आश्विन नवरात्र को महानवरात्र कहा जाता है। इसका एक कारण यह भी है कि ये नवरात्र दशहरे से ठीक पहले पड़ते हैं दशहरे के दिन ही नवरात्र को खोला जाता है। नवरात्र के नौ दिनों में मां के अलग-अलग रुपों की पूजा को शक्ति की पूजा के रुप में भी देखा जाता है। नवरात्रि के नौ रातों में तीन देवियों - महालक्ष्मी, महासरस्वती या सरस्वती और दुर्गा के नौ स्वरुपों की पूजा होती है जिन्हें नवदुर्गा कहते हैं। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। दुर्गा का मतलब जीवन के दुख कॊ हटानेवाली होता है।

नवरात्र भारतवर्ष में हिंदूओं द्वारा मनाया जाने प्रमुख पर्व है। इस दौरान मां के नौ अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है। वैसे तो एक वर्ष में चैत्र, आषाढ़, आश्विन और माघ के महीनों में कुल मिलाकर चार बार नवरात्र आते हैं लेकिन चैत्र और आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से नवमी तक पड़ने वाले नवरात्र काफी लोकप्रिय हैं। बसंत ऋतु में होने के कारण चैत्र नवरात्र को वासंती नवरात्र तो शरद ऋतु में आने वाले आश्विन मास के नवरात्र को शारदीय नवरात्र भी कहा जाता है। शक्ति की उपासना का पर्व शारदीय नवरात्र प्रतिपदा से नवमी तक निश्चित नौ तिथि, नौ नक्षत्र, नौ शक्तियों की नवधा भक्ति के साथ सनातन काल से मनाया जा रहा है। सर्वप्रथम श्रीरामचंद्रजी ने इस शारदीय नवरात्रि पूजा का प्रारंभ समुद्र तट पर किया था और उसके बाद दसवें दिन लंका विजय के लिए प्रस्थान किया और विजय प्राप्त की। तब से असत्य, अधर्म पर सत्य, धर्म की जीत का पर्व दशहरा मनाया जाने लगा। आदिशक्ति के हर रूप की नवरात्र के नौ दिनों में क्रमशः अलग-अलग पूजा की जाती है।